Credit- PTI
Credit- PTI

R Bharat

लोकसभा चुनाव से पहले अमित शाह-नीतीश की कल होने वाली मुलाकात पर टिकी हैं सभी की निगाहें, सीटों को लेकर हो सकती है चर्चा

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

सभी की निगाहें गुरूवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार के बीच होने वाली मुलाकात पर टिकी हैं क्योंकि संभावना है कि राजग नेताओं के बीच इस बैठक में 2019 के आम चुनावों के लिए सीटों के बंटवारे पर सहमति बन जाएगी.

दोनों नेता राज्य के अतिथि गृह में सुबह के नाश्ते पर मिलेंगे और फिर वे रात के भोजन के दौरान मुख्यमंत्री आवास में भी भेंट करेंगे. भाजपा और जदयू के सूत्रों का कहना है कि सीटों के बंटवारे पर भले ही विस्तृत चर्चा न हो , लेकिन आशा की जा रही है कि शाह और कुमार के बीच इस संबंध में मोटी - मोटी सहमति बन जाएगी.

शाह गुरूवार को एक दिन की यात्रा पर पटना पहुंचेंगे. चार साल अलग रहने के बाद जदयू की राजग में वापसी के बाद शाह की यह पहली बिहार यात्रा है.

इसे भी पढ़ें- BJP से तल्खियों के बीच नीतीश कुमार के बीच JDU की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक कल, हो सकता है कोई बड़ा ऐलान

हालांकि इन बैठकों में भाजपा के बिहार प्रभारी भूपेन्द्र यादव , उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और रवि शंकर प्रसाद सहित राज्य से आने वाले सभी केन्द्रीय मंत्री मौजूद होंगे , लेकिन सबकी निगाहें शाह और कुमार की बैठक पर रहेंगी.

गौरतलब है कि बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार रविवार को नई दिल्ली मेें पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में आगामी विधानसभा और लोकसभा चुनाव समेत विभिन्न मुद्दों पर व्यापक चर्चा की थी. साथ ही कहा कि बीजेपी से गठबंधन जारी रखने की बात कही. लेकिन कुछ ऐसी बातें कही गई थी जो इस ओर इशारा कर रही थी कि सबकुछ अब भी सही नहीं है.

इसे भी पढ़ें- 2019 में अगर BJP से नहीं बनी बात!, तो फिर पार्टी के साथ आगामी लोकसभा चुनाव लड़ सकती है JDU

2014 के आम चुनावों में भाजपा ने राज्य में 40 लोकसभा सीटों में से 22 पर जीत हासिल की थी और उसके गठबंधन सहयोगियों लोजपा और रालोसपा ने क्रमश : छह और तीन सीटों पर जीत दर्ज की थी. जदयू तब केवल दो सीटें जीत सकी थी.

(इनपुट- भाषा)

Below Article Thumbnails
DO NOT MISS