R Bharat

मध्य प्रदेश: सरकारी स्कूल बना "डांस बार", बार-बालाओं ने जमकर लगाए ठुमके, देखें वीडियो

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

अजब मध्य प्रदेश की गजब कहानी, शिक्षा का मंदिर बना अश्लील डांस का केन्द्र, स्कूल में परीक्षा दे रहे परीक्षार्थी बने दर्शक, जी हां हम बात कर रहे टीकमगढ जिले के शासकीय उच्तर माध्यमिक विद्यालय मोहनगढ की, जहां पिछले तीन दिनों से स्कूल परिसर में चल रहे पूर्व मंत्री स्व.सुनील नायक स्मृति बाली बॉल एवं विधायक कप टूर्नामेंट कार्यक्रम के दौरान बार बालाओं द्वारा किए गए डांस में जमकर अश्लीलता परोसी गई .

जबकि इसी स्कूल में दो फरवरी से 26 फरवरी तक जहां एक ओर माध्यमिक शिक्षामण्डल द्वारा कक्षा 9 व 11 की वार्षिक परीक्षाएं आयोजित की जा रही है, वही दूसरी और इसी स्कूल प्रांगण में पूरे दिन टूर्नामेंट के मैंच खेले जा रहे है, जिससे बच्चों को परीक्षा देना मुश्किल हो रहा है, जिन कक्षों में छात्रों को परीक्षा देना चाहिए ,वहां मैच खेलने आई टीमें रूकी हुई है और इस शोर शराबे के बीच ऐसे में छात्रों की परीक्षाएं स्कूल की छत पर जमीन पर बिठाकर कराई जा रही है.

 ऐसा भी नही कि इसकी जानकारी जनप्रतिनिधियों व प्रशासन के आला अधिकारियों को न हो, वह भी इस कार्यक्रम में बतौर अतिथि शामिल हो रहे है,कल तो कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में महिला बाल विकास राज्यमंत्री ललिता यादव कार्यक्रम संयोजक पृथ्वीपुर विधायक अनीता नायक के साथ उपस्थित रही.

अपना जीवन संभालने छात्र शांत वातावरण में दिन रात कड़ी मेहनत करके परीक्षा उत्तीर्ण करना चाहते है और अगर इनकी इस पढ़ाई में किसी प्रकार का कोई खलल उत्पन्न हो, तो उनका परीक्षा उत्तीर्ण करना मुश्किल नजर आता है.

लेकिन  टीकमगढ जिले के मोहनगढ़ के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्रांगण में चल रहे तीन दिवसीय विधायक कप के भव्य कार्यक्रम के चलते न तो छात्र सही ढंग से स्कूल में परीक्षा दे पा रहे है और न ही सुबह से देर रात तक तेज ध्वनि से बजने बाले साउण्ड के चलते अपने घरों पर पढ़ाई कर पा रहे है.

छात्रों का कहना है कि ऐसे में उनका भविष्य खराब हो रहा है, और यही बात छात्रों के अभिभावक भी कह रहे है लेकिन उनका कहना है कि इस ओर न तो प्रशासन ध्यान दे रहा है और न ही स्कूल प्रबंधन.

वही इस पूरे मामले से अनभिज्ञता जताते हुए जिला शिक्षाधिकारी का कहना है कि इस संबंध में मेरे पास न तो किसी अभिभावक द्वारा और न ही स्कूल प्रबंधन द्वारा कोई शिकायत की गई है और न ही स्कूल प्रांगण में इस प्रकार के कोई कार्यक्रम की स्वीकृति मेरे द्वारा और न ही स्कूल द्वारा स्वीकृति दी गई है.

 

Below Article Thumbnails
DO NOT MISS