R Bharat

शशि थरूर बोले, " लोकसभा चुनाव में BJP जीती, तो भारत फिर 'हिंदू पाकिस्तान' बन जाएगा"

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

साल 2019 में लोकसभा चुनाव प्रस्तावित लोकसभा चुनाव होने हैं , लिहाजा हर राजनीतिक दल अपने वोटबैंक को ध्यान में रखते हुए बयान दे रहा है. इसी कड़ी में कांग्रेस नेता शशि थरूर ने आज मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि वो संविधान को बदल देगी और हिन्दू राष्ट्र के सिद्धांतों को स्थापित करेगी. उन्होंने आगे दावा किया कि बीजेपी देश में अगले लोकसभा चुनाव जीतने पर भारत को 'हिंदू पाकिस्तान' में परिवर्तित कर देगी.

थरूर ने कहा कि संघ परिवार के समर्थक - वी डी सावरकर, जिसने 'हिंदुत्व' शब्द बनाया था; एम एस गोलवलकर, सबसे लंबे समय से सेवा करने वाले आरएसएस प्रमुख; और दीनदयाल उपाध्याय, जिन्हें प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं, वो सब चाहते थे कि भारतीय संविधान को त्याग दिया जाए. उनका पहला तर्क यह था कि यह गलत भाषा में एंग्लोफोन वकीलों द्वारा लिखे गए पश्चिमी विचारों से भरा था.लेकिन वे वास्तव में अपने स्वयं के हीरो के विश्वासों पर कार्य करेंगे और वे एक नए संविधान के साथ वापस आ जाएंगे.

उन्होंने आगे कहा कि लेकिन यह सब करने के लिए उन्हें संविधान मे बदलाव करने की जरूरत होगी, जो बदलने के लिए तीन चीजें चाहिए. उनमें से पहली है लोक सभा के दो-तिहाई बहुमत की जरूरत है, फिर राज्या सभा के दो तिहाई और आधे राज्यों की जरूरत है. अब आप सही जानते हैं कि उनके पास एनडीए एलियंस के साथ लोक सभा के दो तिहाई बहुमत हैं. उनके पास आधे से ज्यादा आंकड़े हैं. वे नियंत्रण 20 राज्य और वे 29 राज्यों में 2 से अधिक में पदोन्नति में हैं.

यह भी पढ़ें- सुनंदा मौत: कांग्रेस नेता शशि थरूर को नियमित जमानत मिली

कांग्रेसी नेता ने आगे कहा कि केवल यही बात है कि उनके पास राज्या सभा में एक बहुमत नहीं है. लेकिन क्योंकि उनके पास इतने सारी राज्य सरकार हैं और राज्य असेंबली राज्या सभा का चुनाव करते हैं, आप सुनिश्चित कर सकते हैं कि चार या पांच वर्षों में वे राज्या सभा में एक प्रमुखता रखेंगे. तो बड़ा खतरे यह है कि अगर वे लोक सभा में उनके वर्तमान ताकत के मुताबिक अगले चुनाव में जीत हासिल करते हैं, तो हम जिन्हें अपने डेमोक्रेटिक प्रतिष्ठान के रूप में समझते हैं वो सब खत्म हो जाएंगे.

यह भी पढ़ें- सुनंदा पुष्कर मौत मामले में शशि थरूर की अग्रिम जमानत मंजूर, कोर्ट की इजाजत के बगैर नहीं छोड़ सकते देश

उन्होंने कहा कि क्योंकि उन्हें संविधान बदलने के लिए इन तीन ताकतों की जरूरत है, और जब उनपर ये ताकतों होगी तो वह मौजूदा संविधान को उखाड़ फेंकेगे और एक नया संविधान लिखेंगे और नया संविधान हिंदु राष्ट्र के अनुरूप होगा. वो अल्पसंख्यकों के लिए समानता वाले अधिकार को हटा देंगे., फिर भारत एक 'हिंदू पाकिस्तान' बनायेगा और ये वो नहीं जिसके लिए  महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरु, मुलाना अजाद, सरदार पटेल और हमारे स्वतंत्रता सेनानी आजादी की लड़ाई लड़े थे.

 

 

Below Article Thumbnails
DO NOT MISS