Chhapaak: 'Aaj Mere Attack Ko 14 Saal Hogaye Hain', Laxmi Agarwal Recalls The Story Of Her Acid Attack In This Touching Post

Bollywood News

Read acid attack survivor Laxmi Agarwal's heartwarming post here -

Written By Chetna Kapoor | Mumbai | Updated On:

Acid attack survivor Laxmi Agarwal on whom Deepika Padukone's next film 'Chhapaak' is based, shared an emotional and a touching post as she recalled the horrific episode that happened 14 years back.

She took to her Instagram handle and posted a black and white selfie with a message that said: "ATTACK DAY 22 APRIL 14 YEARS

आज मेरे अटैक को 14 साल हो गए है, इन 14 सालों में बोहुत कुछ बदला है, बोहुत सारी चीज़ें अच्छी हुई बोहुत सारी चीज़ें बुरी जिसके बारे में सोच के भी डर लगता है, लोगों को लगता है, ऐसिड अटैक हुआ है ये सबसे बड़ा दुःख है, सबको यही दिखता है, जब कोई भी अटैक होता है , ना सिर्फ़ हमारी पूरे परिवार की ज़िंदगी बदल जाती है, अचानक से एक नया मोड़ आ जाता है, क्यूँकि वो इंसान एक बार अटैक करता है, सोसाइटी बार बार अटैक करती है, जीने नही देती जिससे जिसके ऊपर क्राइम हुआ है, वो या परिवार का कोई एक व्यक्ति आत्महत्या कर लेता है, मुझे पता है हर साल ये तारिख मेरे जीवन में आएगी और आज का दीन उस दिन जैसा ही तकलीफ़ भरा होता है, उस वक़्त तो पापा भाई भी थे पर आज वो भी नही है, हर 22 अप्रैल मेरे लिए कुछ नई तकलीफ़ देती है, जिसके बारे में सोच के भी डर जाती हूँ, आख़िर मैं भी इंसान हु मुझे भी तकलीफ़ होती है, मैं कभी नही चाहती जो मेरे साथ हुआ है वो किसी और के साथ हो, जब मैं 15 साल की थी तो अपने पापा मम्मी से कुछ नही बोल सकी मन में डर था कही ना कही की अगर कहा तो मुझे ही ग़लत बोलेंगे और वो चुपी की वझा से उस क्रिमिनल ने फाएदा उठाया आज इस पोस्ट को हर कोई पड़ेगा, और मैं चाहती हूँ इस पोस्ट से आप लोग एक सबक़ ले जो माँ बाप है वो अपने बच्चों के साथ दोस्ती करे ताकि वो अपने मन की बात आपको बता सकते क्यूँकि जब भी कोई दिक़्क़त होती है माँ बाप को ही ज़्यादा परेशान होना पड़ता है, और जो बच्चे है, वो भी अपने मम्मी पापा के साथ दोस्ती करे, अपने मन की बात आप अपने मम्मी पापा को बताइए ताकि जो भी दिक़्क़त हो वो साथ मिलकर ठीक कर सके,याद रहे अटैक शिरफ एक पर्सन पर नही पूरे परिवार पर होता है ……. #stopsaleacid" [sic]

TRANSLATION: Today my attack has been 14 years, in some of these 14 years there has been a change, but all the good things have been well done; all things are bad; the fear of thinking about it, people think, acid attack is the biggest It is sad, everyone sees this, when there is any attack, only the life of our whole family changes, suddenly a new turn comes, because the person attacks once, the society repeatedly attacks, does not allow it to live, on which the person has committed a crime, or one person of the family commits suicide, I know every year this date will come in my life and today's misery is as painful as that day. There was a father brother at that time, but today he is not even here, every 22nd April gives me some new troubles, which are afraid of thinking about it, even after all I am a person, I am also troubled, I Shall never find what happened to me she is with someone else, when I was 15, my father could not say anything to my mother. I did not say anything, and if I said it would tell me wrong and that the criminal has taken the oath, that everyone will have this post today, and I want you to take a lesson from this post that you are a parent who should be friends with your children so that they can tell you about your mind, because whenever a parent is troubled, the parents will have to face more trouble. Yes, and whoever is a child, should also be friends with his father, Papa. Tell your mom father to your mind so that whatever can be done, he can do it together, remembering the attacking shirph does not happen on a person but on a whole family

Here's the post -

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

ATTACK DAY 22 APRIL 14 YEARS आज मेरे अटैक को 14 साल हो गए है, इन 14 सालों में बोहुत कुछ बदला है, बोहुत सारी चीज़ें अच्छी हुई बोहुत सारी चीज़ें बुरी जिसके बारे में सोच के भी डर लगता है, लोगों को लगता है, ऐसिड अटैक हुआ है ये सबसे बड़ा दुःख है, सबको यही दिखता है, जब कोई भी अटैक होता है , ना सिर्फ़ हमारी पूरे परिवार की ज़िंदगी बदल जाती है, अचानक से एक नया मोड़ आ जाता है, क्यूँकि वो इंसान एक बार अटैक करता है, सोसाइटी बार बार अटैक करती है, जीने नही देती जिससे जिसके ऊपर क्राइम हुआ है, वो या परिवार का कोई एक व्यक्ति आत्महत्या कर लेता है, मुझे पता है हर साल ये तारिख मेरे जीवन में आएगी और आज का दीन उस दिन जैसा ही तकलीफ़ भरा होता है, उस वक़्त तो पापा भाई भी थे पर आज वो भी नही है, हर 22 अप्रैल मेरे लिए कुछ नई तकलीफ़ देती है, जिसके बारे में सोच के भी डर जाती हूँ, आख़िर मैं भी इंसान हु मुझे भी तकलीफ़ होती है, मैं कभी नही चाहती जो मेरे साथ हुआ है वो किसी और के साथ हो, जब मैं 15 साल की थी तो अपने पापा मम्मी से कुछ नही बोल सकी मन में डर था कही ना कही की अगर कहा तो मुझे ही ग़लत बोलेंगे और वो चुपी की वझा से उस क्रिमिनल ने फाएदा उठाया आज इस पोस्ट को हर कोई पड़ेगा, और मैं चाहती हूँ इस पोस्ट से आप लोग एक सबक़ ले जो माँ बाप है वो अपने बच्चों के साथ दोस्ती करे ताकि वो अपने मन की बात आपको बता सकते क्यूँकि जब भी कोई दिक़्क़त होती है माँ बाप को ही ज़्यादा परेशान होना पड़ता है, और जो बच्चे है, वो भी अपने मम्मी पापा के साथ दोस्ती करे, अपने मन की बात आप अपने मम्मी पापा को बताइए ताकि जो भी दिक़्क़त हो वो साथ मिलकर ठीक कर सके,याद रहे अटैक शिरफ एक पर्सन पर नही पूरे परिवार पर होता है ……. #stopsaleacid

A post shared by Laxmi Agarwal (@thelaxmiagarwal) on

At an event, Laxmi expressed her opinion on Deepika Padukone's film. She said: "I have never won a medal in school. Who would have thought about a biopic being made on me? I am thankful to Meghna Ji for considering my work worthy enough to be converted into a film." 

READ | WATCH | Deepika Padukone And Vikrant Massey's Intimate Scene From The Sets Of 'Chhapaak' Goes Viral

She also said, "I am also elated that a celebrity like Deepika is playing me. I just want to say that this film will be a tight slap on that attacker who thought he has ruined my life and to the society who looked at me like a criminal. I saw a lot of makeup artists on social media recreating Deepika's look from the film. Unhone vaisa makeup karke apni photos mujhe bheji hui hain. Kabhi socha nahi tha ki ek acid-attack survivor ke face ko bhi log recreate karenge." 

 Meanwhile, Meghna Gulzar, the director of 'Chhapaak' took to her Instagram handle to announce that the film's Delhi schedule has been wrapped and the shooting is half-way done. Here's her post with the entire crew -

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Happily halfway done! Delhi schedule wrap for team #chhapaak @deepikapadukone @vikrantmassey87 @foxstarhindi

A post shared by Meghna Gulzar (@meghnagulzar) on

 

 

 

Get the latest entertainment news from India & around the world. Now follow your favourite television celebs and telly updates. Republic World is your one-stop destination for trending Bollywood news. Tune in today to stay updated with all the latest news and headlines from the world of entertainment.

Published:
By 2030, 40% Indian will not have access to drinking water
SAVE WATER NOW
PEOPLE HAVE PLEDGED SO FAR
DO NOT MISS